कोरोना वायरस की उत्पत्ति के लिए चीन पर अधिक दबाव नहीं दे सकते: WHO


Neel Mani

नई दिल्ली:  कोरोना वायरस विश्व में कहां से और कैसे फैला इस बात को America (अमेरिका) समेत कई और देश जानना चाहते हैं। इस वायरस की उत्पत्ति के लिए China (चीन) को शक के दायरे में रखा गया है। America (अमेरिका) ने कोरोना वायरस की उत्पत्ति का सच जानने के लिए विश्व के देशों व WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) से सहयोग मांगा है।

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) कोरोना वायरस को लेकर शुरु से ही संदिग्ध की भूमिका में रहा है, जिसके कारण WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) पर China (चीन) का पिट्ठू होने आरोप लगते रहे हैं।

सोमवार को WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के शीर्ष अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर WHO चीन (China) पर अधिक दबाव नहीं बना सकता है। WHO के आपातकाल कार्यक्रमों के निदेशक Mike Ryan (माइक रयान) ने एक प्रेस काफ्रेंस में कहा इस मामले पर अधिक दबाव बनाने का अधिकार WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के पास नहीं है।

अमेरिकी विदेश मंत्री Antony Blinken (एंटोनी ब्लिंकेन) ने कोरोना वायरस के China (चीन) को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि कोरोना वायरस का खात्मा करना है और अगर इस तरह की महामारी से भविष्य में बचना है तो इसकी तह तक जाना होगा। अपनी बात को जारी रखते हुए Blinken (ब्लिंकेन) ने आगे कहा चीन अब तक उस तरह से जांच नहीं करने दे रहा जैसी जांच होनी चाहिए थी।

आपको बता दें अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति Donald Trump (डॉनल्ड ट्रम्प) पहले ही कोरोना वायरस को चीनी वायरस कह चुके हैं।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

अपराध

दुनिया

खेल

मनोरंजन