मुर्दे को कब्र से निकालकर लाश का कोरमा बनाने वाले दो भाइयों की कहानी


Kuldeep kumar

जानवरों द्वारा जानवरों को खाना, जानवरों द्वारा इंसानों को खाना आपने सुना होगा। आपने इंसानों द्वारा जानवरों को भी खाते सुना होगा क्योंकि यह आम बात है पर क्या आपने कभी इंसानों को इंसान का मांस खाते सुना है, नहीं ना तो आज मैं आपको एक नहीं बल्कि 2 आदमखोरों की कहानी बताऊंगा जिसे सुनकर ही किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएं कि कैसे कोई इंसान, इंसान को खा सकता है। 

यह कहानी हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित मक्कर जिले की है। यहाँ इंसानी भेष में रहने वाले दो नरभक्षी भाइयों की है। यह दोनों भाई शादीशुदा है लेकिन इनकी बीवियां इन्हें छोड़कर जा चुकी है।  इन दोनों आदमखोर की बीवियों  का आरोप था कि यह दोनों उन्हें रोज मारते पीटते और गाली गलौज करते थे। 

पाकिस्तान के आदमखोर:- 

इन दोनों भाइयों का नाम मोहम्मद फरमान अली और मोहम्मद आरिफ अली है। दोनों भाइयों पर इल्ज़ाम है कि उन्होंने 100 से ज़्यादा मुर्दों को कब्र से निकालकर खा लिया। दोनों आदमखोर भाइयों का नाम सामने तब आया, जब इन दोनों को साल 2011 में पहली बार गिरफ्तार किया गया था। इन दोनों को पुलिस ने इसलिए गिरफ्तार किया था, क्योंकि पुलिस एक महिला की लाश ढूंढ रही थी जो कि कब्रिस्तान से गायब हो गई थी। यह महिला थी सायरा प्रवीण, सायरा की मौत कैंसर से हो गई थी।

सायरा के परिजनों ने पुलिस स्टेशन में शिकायत की थी कि उन्होंने कल ही लाश को दफनाया था और जब वह अगली सुबह कब्रिस्तान गए तो वहां की स्थिति को देखकर दंग रह गए, क्योंकि कब्र खुदी हुई थी और सायरा की लाश गायब थी। पुलिस ने जब छानबीन की तो पुलिस को पता चला कि सायरा की लाश को गायब करने में इन दो भाइयों फरमान अली और आरिफ अली का हाथ है। 

पुलिस मामले की तफ्तीश करने जब इन दोनों भाइयों के घर पहुंची तो देखा कि घर के भीतरी कमरे में पतीले में करी जैसी कोई चीज़ रखी हुई थी। फिर पुलिस ने घर की छानबीन शुरू की तो उन्हें घर के बाहर एक बोरी दिखी। पुलिस ने जब बोरी को खोला तो दंग रह गई, उस बोरी में महिला की कई हिस्सों में कटी हुई लाश थी। इसके बाद पुलिस ने फ़ौरन उन दोनों भाइयों को हिरासत में ले लिया और उस पतीले को भी जांच के लिए लैब भिजवाया। जांच के बाद डरा देने वाला परिणाम सामने आया वह करी जो जांच के लिए लैब भिजवायी गई थी वह इंसानी मांस की बनी हुई थी। 

कब्र से निकालकर खा गए 100 मुर्दे:-

इसके बाद पुलिस ने दोनों भाइयों से कड़ाई से पूछताछ की तो हैरान और दिमाग झकझोर कर रख देने वाली बात निकलकर सामने आई। दोनों भाइयों ने कबूला कि वह हाल ही में दफनाई गई लाश को कब्र से निकालकर घर लाए थे और बाद में उसे पका कर खा गए। उन दोनों आदमखोर भाइयों ने बताया कि इससे पहले भी कई लाशों को कब्रिस्तान से निकालकर लाये हैं और खा चुके हैं। हैवान भाइयों का कहना था कि वो पहले से ही पता करके रखते थे कि कब ताजी लाश दफन होने आई है, दफन होने के बाद रात को दोनों आदमखोर भाई कब्रिस्तान में आते और दफन हुई लाश को कब्र से निकालकर अपने साथ ले जाते और पका कर खा जाते। उन दोनों भाइयों ने यह भी कहा कि वह अब तक 1 नहीं, 2 नहीं, 10 नहीं बल्कि पूरे सौ से अधिक मुर्दों को कब्र से निकालकर पका कर खा चुके हैं। 

पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया। पर अदालत में एक समस्या खड़ी हो गई, क्योंकि पाकिस्तान में ऐसा अपराध करने वालों के लिए कोई सजा का प्रावधान ही नहीं था। अदालत भी पशोपेश में थी कि इस हरकत के लिए उन दोनों आदमखोर भाइयों को क्या सजा दें। इसके बाद अदालत ने उन दोनों भाइयों पर कब्र से छेड़छाड़ करने और अन्य धाराओं के तहत दो-दो साल की सजा तथा 50 - 50000 का जुर्माना लगाया। हालांकि यह दोनों भाई जेल में कम और अस्पताल में ज्यादा रहे, क्योंकि इनका मानसिक इलाज भी किया जा रहा था। जब यह दोनों आदमखोर भाई सजा पूरी कर साल 2013 में घर लौटे, तो लोग इनकी रिहाई का विरोध कर रहे थे। 

वहीं दोनों आदमखोर भी डर के साए में थे कि अगर वह घर से बाहर निकलेंगे तो लोग उन्हें कहीं जान से ना मार दे, इसलिए वह घर से निकलते ही नहीं थे।   साल 2014 में एक बार फिर स्थानीय लोगों ने पुलिस में शिकायत की कि उनके घर से सड़े हुए मांस की बदबू आ रही है। पुलिस ने फिर से उनके घर पर छापा मारा तो वही नजारा देखने को मिला जो इससे पहले था। परंतु इस बार इन दोनों आदमखोर भाइयों के घर से एक 2 साल के बच्चे का सिर मिला जो काफी हैरान और चौंकाने वाला था। 

इसके बाद पुलिस ने इन दोनों भाइयों को फिर से गिरफ्तार किया और अब आतंकवाद निरोधक अदालत को सौंप दिया। इस अदालत ने दोनों नरभक्षी भाइयों को बच्चे की कब्र को छेड़ने के साथ -साथ आतंक फैलाने और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का दोषी पाया और 12-12 साल की सजा सुनाई। फिलहाल ये दोनों नरभक्षी जेल  में अपनी-अपनी सजा काट रहे हैं। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन