नेटफ्लिक्स डाक्यूमेंट्री "इंडियन मैचमेकिंग" रिव्यु


Riddhi Jain

कहते हैं कि जोड़ियां ऊपर वाला बनाता है और उन्हें धरती पर मिलाने का काम रिश्तेदार करा देते हैं। लेकिन मार्केट में एक नई अंटी आई है जिनका नाम सीमा टपारिया फ्रॉम मुंबई है ,जो मैचमेकिंग का काम करती है। नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हुए डोक्युमेंनटरी स्टाइल के शो "इंडियन मैचमेकिंग" के जरिए इनके बारे में पता चला है तो चालिए आपको भी इन आंटी के बारे में बताते हैं।

"इंडियन मैचमेकिंग" की डायरेक्टर स्मृति मुंद्रा हैं। यह एक डोक्युमेंटरी सीरीज़ है, जिसमें 8 एपिसोड के जरिए अरेंज मैरिज के कॉन्सेप्ट को दर्शाया गया है। इसमें जिन लोगों को भी दिखाया गया है, वो एक्टर्स नहीं बल्कि रियल लोग हैं।
 मुंबई की फेमस मैचमेकर सीमा तापरिया अलग-अलग लोगों के लिए लाइफ पार्टनर चुनने का काम करती हैं। यानी वह अपने क्लाइंट्स लड़के/लड़कियो से उनकी पसंद के बारे में पूछती हैं। उसके बाद उनकी विश लिस्ट और क्लास के हिसाब से रिश्ता मैच करती हैं और फिर उनके परिवारों से मिलती हैं। इसके अलावा सीमा जी क्लाइंट्स की  गाइड भी बन जाती हैं, पर उनकी गाइड वाली लिस्ट में बोल्ड लेटर्स में सिर्फ और सिर्फ कोम्प्रोमाईज़ लिखा है। साथ ही बीच बीच में अपनी जजमेंट भी पास करते नजर आती हैं।

सीरीज़ में आपको नादिया, अक्षय, शेखर, अपर्णा और प्रद्युमन को मिलकार 8 क्लाइंट्स देखने को मिलेंगे जो भारत और अमेरिका में रहते हैं। जो परफेक्ट विश लिस्ट के अनुसार पार्टनर चुनकर अरेंज मैरिज करना चाहते हैं और उनकी यह विश पूरी करती है हमारी सीमा आंटी। क्लाइंट्स की लिस्ट में हाईट, कास्ट, गोरी लड़कियां, अमीर लड़के और मां को खुश रखने वाले लाइफ पार्टनर्स की डिमांड है लेकिन इसके अलावा कुछ क्लाइंट्स को अपनी बहु फ्लेक्सिबल चाहिए *ऐसा ही है तो आप अपने बेटे की शादी जसप्रीत कालरा से करवाओ*।

ओवर ऑल "इंडियन मैचमेकिंग" के कुछ दृश्य देखने के बाद सचमुच मेरा खून उबल रहा था लेकिन इस सीरीज़ ने सच्चाई भी जरूर दिखाई है कि कैसे भारत में शादी सिर्फ दो लोगों के बीच नहीं बल्कि दो परिवारों के बीच होती है। साथ ही सीरीज़ में आपको अरेंज मैरिज में जो प्रोब्लेम्स होती है वो भी देखने को मिलेगी। सीरीज़ में पंडितों के रोल को भी अच्छे से दिखाया गया हैं। जिससे हम काफी रिलेट कर सकते हैं। "इंडियन मैचमेकिंग" सीरीज़ पूरी तरीके से ग्लैमर से भरपूर हैं, सारे क्लाइंट्स  बेहद अमीर हैं जिन्होंने बॉलीवुड स्टार को भी पीछे छोड़ दिया है। वहीं सीरीज़ का बेस्ट पार्ट ओल्ड कपल्स के इंटरव्यूज है जो बीच बीच में आकर अपनी अरेंज मैरिज की कहानी बताते हैं। सीरीज़ की खास बात यह भी है कि भले आपको यह सीरीज़ देखते वक़्त गुस्सा आएगा लेकिन फिर भी आप इसे एन्जॉय जरुर करेंगे साथ ही पूरी सीरीज़ देखने पर मजबूर हो जाएंगे। लास्ट में सीमा आंटी और उनके क्लाइंट्स को  मैं बस इतना ही बोलना चाहूंगी की यह 1950 का दशक नहीं है और आई होप इसको देखने के बाद लोगों की मेंटेलिटी बदल जाए।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन