Lakhimpur Kheri में 13 साल की नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप के बाद बेहरमी से हत्या


KULDEEP KUMAR

उत्तर प्रदेश में दिनों दिन अपराध बढ़ता ही जा रहा है। प्रदेश में महिलाओं के साथ लगातार कोई ना कोई घटना हो रही है। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी से दिल को झकझोर देने वाली खबर प्रकाश में आई है, जहां 13 साल की नाबालिग लड़की के साथ पहले गैंगरेप किया गया और फिर उसकी निर्ममता से हत्या कर दी गई।

क्या था पूरा मामला:-

लखीमपुर जिले के ईसानगर थाना क्षेत्र के पकरिया गांव में 13 साल की रहने वाली नाबालिग 14 अगस्त को अपने घर से दोपहर लगभग एक बजे शौच के लिए निकली थी। इसके बाद गांव के ही दो युवकों ने उसको खेत में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी हत्या कर दी। हत्या करने से पहले युवकों ने बच्ची के साथ हैवानियत की हद पार की। पीड़िता के साथ हैवानों ने बहुत बेरहमी की, उसकी दोनों आंखें फोड़ दीं और बच्ची की जीभ तक काट दी। इसके बाद आरोपियों ने बच्ची के गले में फंदा डालकर उसको घसीटा। बाद में आरोपी शव को गन्ने के खेत में फेंककर फरार हो गए। 

देर रात जब बच्ची घर वापस नहीं लौटी तो बच्ची के घरवाले परेशान हो गए और उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी और पुलिस ने बच्ची की तलाश शुरू कर दी। तलाश के दौरान बच्ची का शव गन्ने के खेत में खून से लथपथ हालत में पड़ा मिला। 

गांव के दो युवकों पर शक:-

बच्ची के परिवार वालों ने गांव के ही दो युवकों पर बच्ची के साथ दुष्कर्म और हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने घरवालों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर संतोष यादव और संजय गौतम पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा, जिसमें दुष्कर्म के बाद हत्या करने की पुष्टि हुई है। अब पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या और गैंगरेप का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है, साथ ही एनएसए के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है। 

पुलिस ने आंख निकालने और जीभ काटने की बात से किया इनकार:-

लखीमपुर खीरी के एसपी सत्येंद्र कुमार ने बच्ची की आंख निकालने और जीभ काटने वाली बात से इनकार किया है। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट और पंचनामा दोनों के आधार पर यह जो कहा जा रहा है कि उसकी आंखें फूटी हैं और उसकी जीभ काटी गई है। यह पूरी तरह से असत्य है। पोस्टमार्टम या पंचनामा किसी में भी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

विपक्ष का सरकार पर हमला:-

बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने इस घटना को लेकर योगी सरकार पर हमला किया है। मायावती ने ट्वीट किया कि यूपी के लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद उसकी निर्ममता से हत्या अति-दुःखद और शर्मनाक है। ऐसी घटनाओं से समाजवादी पार्टी और वर्तमान की भाजपा सरकार में क्या अंतर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई करे।

अखिलेश यादव ने सरकार को घेरा:-

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया कि यूपी के लखीमपुर खीरी में एक बेबस किशोरी के साथ दुष्कर्म और फिर निर्मम हत्या इंसानियत को झकझोर देने वाली घटना है। भाजपा काल में उत्तर प्रदेश में नारियों व बच्चियों के उत्पीड़न चरम पर हैं। बलात्कार, हत्याओं, अपहरण और अपराध के मामलों में भाजपा सरकार प्रश्रयकारी क्यों बन रही है।

कांग्रेस नेता का योगी सरकार पर हमला:-

कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने लखीमपुर खीरी में हुए बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि आखिर पुलिस क्या करती रही जो इतनी बड़ी घटना हो गई? इसके लिए जिम्मेवार लोगों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए और परिवार की सुरक्षा का भी ध्यान रखना चाहिए। ताकि अब उन्हें कोई भयभीत ना कर सके। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन