आगरा बस 'हाईजैक' में बड़ा खुलासा, बस का कोई सुराग नहीं, 34 यात्री थे सवार, जानें पूरी घटना


KULDEEP KUMAR

उत्तर प्रदेश से एक बड़ी गंभीर खबर सामने आई है जहां पर कुछ अज्ञात व्यक्तियों ने एक प्राइवेट बस को अगवा कर ड्राइवर-कंडक्टर को बंधक बना लिया। बस में 34 सवारी भी थीं, जिन्हें झांसी में उतार दिया गया और अज्ञात लोग बस को लेकर फरार हो गए। पुलिस बस की तलाश में छापेमारी कर रही है लेकिन बस का अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है। 

कैसे, कब, क्या हुआ:-

वारदात मलपुरा थाना क्षेत्र के दक्षिणी वाईपास की है। बस देर रात गुरुग्राम से मध्य प्रदेश के पन्ना जिले जा रही थी लेकिन मंगलवार - बुधवार की रात को आगरा के पास कुछ अज्ञात लोगों ने प्राइवेट बस को निजी कार से ओवरटेक करके रोक लिया। इसके बाद प्राइवेट बस के कंडक्टर और ड्राइवर को उतार कर अपने साथ कार में बिठा लिया जबकि एक दूसरे ड्राइवर के जरिये बस को आगे लेकर चले गए। 

इसके बाद अज्ञात लोगों ने बस को ढाबे पर रोका और वहां पर ड्राइवर और कंडक्टर को खाना खिलाया। सभी यात्रियों के टिकट का पैसा भी वापस कराया गया। फिर ये अज्ञात लोग बस के ड्राइवर और कंडक्टर को ढाबे पर छोड़कर यात्रियों के साथ बस को आगे लेकर चले गए। अज्ञात लोगों ने झांसी में बस से सभी यात्रियों को उतार दिया और दूसरी बस से सभी को उनके गंतव्य स्थान के लिए रवाना कर दिया गया। 

पुलिस ने दिया बयान:-

आगरा एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि प्रथम दृष्ट्या ये फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों का काम है। अभी तक जो पता चल रहा है कि ग्वालियर की ट्रेवल्स कंपनी काफी कर्ज में थी और बस की किश्तें नहीं दी जा रही थीं। मामला संवेदनशील है। पुलिस टीम लगा दी गई है, जांच की जा रही है। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन