आखिर कब लौटेगा भारत माँ का लाल...


Ramesh Kumar

भारत का एक लाल देश की रक्षा करते-करते कहां लापता हो गया किसी को कोई खबर तक नहीं है। आज तकरीबन 6 दिन बीत गए फिर भी उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया है। उसकी खोजबीन अभी भी जारी है। यह खबर है जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग सेक्टर में तैनात 11वीं गढ़वाल राइफल्स के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी की। राजेंद्र सिंह नेगी देहरादून के पंज्याणा गांव के रहने वाले है। 

सेना की तरफ से कमांडिंग ऑफिसर ने कहा है कि 9 जनवरी की सुबह करीब 11:00 बजे गुलमर्ग में पाकिस्तान सीमा के पास पैदल पेट्रोलिंग के दौरान हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी का बर्फ में पैर फिसल गया और वह फिसल कर सीमा पार पहुंच गए।

यह दुखद खबर सुनकर उनके परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है। माँ के आँसू, पत्नी व बच्चों की सिसकियां रुक नही रही हैं। राजेंद्र सिंह की पत्नी राजेश्वरी देवी ने एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए बताया कि उनकी आखिरी बात 8 जनवरी को हुई थी। उसके बाद सेना की तरफ से उन्हें यह सूचना दी जाती है कि राजेंद्र सिंह लापता हो गए है। 

राजेश्वरी देवी आगे कहती हैं कि दो-चार दिन बीत जाने के बाद भी सेना की तरफ से कोई खबर नहीं मिलती है तो वह खुद फोन करके पूछती है तो सेना की तरफ से बस एक आश्वासन मिलता है कि राजेंद्र सिंह को जल्द ही ढूंढ लिया जाएगा खोजबीन जारी है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लापता जवान के बारे में कहा है कि जवान राजेंद्र सिंह नेगी को लेकर वह रक्षा मंत्री से संपर्क में है। साथ में कोशिश है कि जवान सकुशल उनके घर लाया जा सके। लापता जवान के परिवार वालों की सरकार से यह गुहार है कि उनकी सलामती की सूचना उन्हें जल्द से जल्द दी जाए और वह सकुशल अपने घर वापस लौट आएं। 

वहीं राजेंद्र सिंह के भाई कुंदन सिंह का कहना है कि अब उनकी उम्मीद सिर्फ भारत सरकार पर टिकी है, सरकार को इस मामले में दखल देना चाहिए और उनके भाई की सकुशल रिहाई के लिए पाकिस्तान सरकार पर दबाव बनाना चाहिए। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन