Rinku Sharma हत्याकांड : So called धर्म निरपेक्ष आखिर चुप क्यों ?


Kuldeep kumar

दिल्ली के मंगोलपुरी में हुई 25 साल के युवक रिंकू शर्मा की हत्या का राज गहराता जा रहा है। घटना दो समुदाय से जुडी होने के कारण इलाके में भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि रिंकू शर्मा भाजपा युवा मोर्चा और विश्व हिन्दू परिषद से जुड़ा हुआ था। रिंकू के परिवारवालों ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है। वहीं इस पूरे मामले को लेकर अब बड़ी सियासत देखने को मिल रही है और पक्ष-विपक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। इस पूरे मामले में पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 

क्या है पूरा मामला और क्यों बन रहा हे ये विवाद :-

दरअसल बुधवार रात को रिंकू शर्मा अपने दोस्त की बर्थडे पार्टी में शामिल होने गया था। बर्थडे पार्टी के दौरान ही वहां मौजूद ज़ाहिद नाम के शख्स से रिंकू की बहस हो गई और रिंकू ने ज़ाहिद को थप्पड़ मार दिया और घर चला आया। इसके बाद ज़ाहिद अपने कुछ साथियों के साथ लाठी, डंडों और चाकू से लैस होकर रिंकू के घर पहुंच गया और रिंकू को घर से खींचकर, घर से बाहर निकाल लिया और खूब पीटा। इसके बाद आरोपियों ने रिंकू पर चाकू से हमला कर दिया और फिर लहूलुहान हालत में रिंकू को वहीं छोड़ सभी आरोपी फरार हो गए। घायलवस्था में रिंकू को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ पीड़ित ने दम तोड़ दिया। 

पुलिस ने बताया आपसी झगड़ा :-

इस पूरे मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि ये मामला आपसी झगड़े का है। पुलिस ने बताया कि मृतक रिंकू अपने दोस्त की बर्थडे पार्टी में शामिल होने गया था। वहीं पर दानिश और रिंकू के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई। इसके बाद रात 11 बजे रिंकू बर्थडे पार्टी से निकलकर वापिस अपने घर जाने लगा तो दानिश ने उसे रोक लिया। इस दौरान रिंकू ने दानिश को थप्पड़ मार दिया और घर चला गया। इसके बाद दानिश अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ रिंकू के घर पहुंच गया और उस पर चाकू से हमला कर दिया। हमला करने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। हालाँकि अब इस पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है। पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपी इस्लाम, जाहिद, मोहम्मद मेहताब, नसरुद्दीन और तसुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया है। 

परिवार ने कहा जय श्री राम का नारा लगाने पर हुई रिंकू की हत्या :-

रिंकू शर्मा के परिवार ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे की हत्या इसलिए की गई है क्योंकि वह जय श्री राम के नारे लगाता था। 5 अगस्त 2020 को भी रिंकू ने 'राम मन्दिर' बनने की खुशी में इलाके में श्री राम रैली निकाली थी। तब भी आरोपी पक्ष के लोगों ने एतराज जताया था। परिवार ने कहा कि उसी वक़्त से आरोपियों ने रिंकू को टारगेट पर ले लिया था। रिंकू भाजपा युवा मोर्चा से जुड़ा हुआ है। रिंकू ने मंदिर बनने की ख़ुशी में इलाके में रैली भी निकाली थी, उस दौरान भी अनबन हुई थी और आज मौका देखकर ही बेटे को मार दिया। मृतक रिंकू की माँ ने कहा कि 30 - 40 लोग लाठी, डंडे और चाकू लेकर आए और मेरे बेटे को मार दिया। परिवार ने दावा किया कि रिंकू का कुछ दिनों पहले नसरुद्दीन से झगड़ा हुआ था। नसरुद्दीन उनके घर के पास ही रहता है। परिजनों के मुताबिक रिंकू की हत्या धर्म को लेकर किए गए कमेंट को लेकर की गई। 

वहीं दैनिक जागरण के संजय सलिल की रिपोर्ट के मुताबिक बदमाश पूरे परिवार को ज़िंदा जला देने की फ़िराक़ में थे। इसके लिए उन्होंने घर में रखा सिलेंडर भी निकाल लिया था। लेकिन रिंकू की माँ और बेटों ने आरोपियों से सिलेंडर को छीन लिया। अपराधी पूरे परिवार को खत्म करना चाहते थे, जिससे कोई सबूत या गवाह न बचे। इसके लिए उन्होंने रिंकू पर अस्पताल ले जाते वक़्त भी लाठी-डंडों से रिंकू पर हमला किया था। 

पीड़ित के भाई मन्नू शर्मा ने कहा कि आरोपी उसके भाई से पहले से ही खुन्नस में थे। मन्नू ने बताया कि भाई राम मंदिर के लिए चंदा भी एकत्र कर रहे थे, इसकी वजह से ही आरोपियों ने भाई के खिलाफ साजिश रची। मन्नू ने बताया कि आरोपित ताजुद्दीन ने माँ का गला दबाने की कोशिश की और जाहिद ने रिंकू के पीठ में धँसे चाकू को घूमा कर और गहरा धँसा दिया। 

रिंकू शर्मा की हत्या का मामला लेने लगा सियासी और धार्मिक रंग :-

इस हत्याकांड को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है। दिल्ली भाजपा नेता ने कहा कि हम मंगोलपुरी के रहने वाले रिंकू शर्मा की हत्या की निंदा करते हैं। लेकिन सवाल यह उठता है ऐसी घटना के बाद सो कॉल्ड धर्म निरपेक्ष दल चुप क्यों हो जाते, सिर्फ़ इसलिए क्योंकि आरोपित एक विशेष वर्ग से आते है? कांग्रेस और और आम आदमी पार्टी जवाब दे। वहीं अब विश्व हिंदू परिषद ने भी इस मसले पर तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। विश्व हिन्दू परिषद ने कहा है कि रिंकु राम मंदिर के लिए चंदा जुटा रहा था, इसी वजह से उसकी हत्या की गई है। आरएसएस के सयुंक्त सचिव सुरेंद्र जैन ने रिंकू की हत्या को लेकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। 

भाजपा ने पूछे विपक्ष से सवाल :-

वहीं दिल्ली भाजपा अध्यक्ष राकेश गुप्ता ने केजरीवाल सरकार को घेरते हुए बोला कि ये घटना बेहद दुखद है। उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जाने वाले लोग आज कहाँ गायब हैं। निश्चित तौर पर आज उन पर सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर ऐसा क्यों ? इस मामले की कार्रवाई फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में होनी है। दिल्ली सरकार मृतक मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान करे। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने रिंकू शर्मा के परिवार को 5 लाख रूपए देने की मदद की है। बीजेपी नेता ने दिल्ली सरकार से पीड़ित परिवार को 1 करोड़ रुपए देने की भी मांग की है। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

अपराध

दुनिया

खेल

मनोरंजन