आरे फॉरेस्ट इलाके में विरोध प्रदर्शन करने गईं प्रियंका चतुर्वेदी को पुलिस ने लिया हिरासत में


Mayank Kumar

शुक्रवार की देर रात मुंबई के गोरेगांव स्थित आरे कॉलोनी में तकरीबन 2700 पेड़ मेट्रो कार शेड के लिए काटने का काम शुरू कर दिया गया। इसके विरोध में पर्यावरण कार्यकर्ताओं के साथ-साथ आम जनता भी सड़क पड़ उतर चुकी है। 

दरअसल, बीएमसी की ट्री अथॉरिटी ने पेड़ को ना काटे जाने के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट में अर्जी डाली थी लेकिन शुक्रवार हाईकोर्ट  ने इस फैसले को खारिज करने से मना कर दिया।

बॉम्बे हाईकोर्ट के इस फैसले से नाराज लोग सड़कों पर उतर कर जमकर प्रदर्शन करने लगे।  हालांकि, पुलिस ने लोगों के गुस्से को शांत करने की कोशिश जरूर की लेकिन जब प्रदर्शनकारी शांत नहीं हुए तो मजबूरन पुलिस को 60 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार करना पड़ा। इसके बाद आरे फॉरेस्ट इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई । 

आरे फॉरेस्ट इलाके में धारा 144 लागू होने के बाद शनिवार को शिवसेना की नेता प्रियंका चतुर्वेदी उस इलाके में विरोध प्रदर्शन करने गई थीं जिन्हें पुलिस ने बाद में गिरफ्तार कर लिया । प्रियंका चतुर्वेदी का कहना है कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने जो निर्णय सुनाया है, हम उसका कड़ा विरोध करते हैं। इस पर कई विकल्प मौजूद थे जिसे नजरअंदाज किया गया है। इस मामले पर एक बार भी लोगों से उनकी राय नहीं पूछी गई।  क्या इस मुद्दे पर अब बीजेपी और शिवसेना में टकराव नहीं होगा? ये मामला बीजेपी और शिवसेना का नहीं है बल्कि मुंबई की जनता का है।  

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन