बतौर गेंदबाज भी रिकॉर्ड कायम किया है MS Dhoni और Syed Kirmani ने


Mayank Kumar

जब बात क्रिकेट के रिकॉर्ड की आती है तो सबसे पहले जहन में  क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर  या ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सर डॉन ब्रैडमैन का नाम आता है। लेकिन आपको जानकारी के लिए ये बता दें कि ना तो ये रिकॉर्ड मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का है और ना ही सर डॉन ब्रैडमैन का है। दरअसल ये अनोखा रिकॉर्ड टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का है। 

क्रिकेट के इतिहास में ऐसा बहुत ही कम हुआ है जब विकेटकीपर को भी गेंदबाजी करने का मौका मिलता है। वैसे, अगर ये कभी देखने को मिल भी जाए तो ऐसा बहुत ही कम होता है जब विकेटकीपर भी विकेट चटका दे। बात करें, भारतीय क्रिकेट के इतिहास की तो इसमें दो विकेटकीपर ऐसे हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में विकेट चटकाने का मुकाम हासिल किया है।

टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी ने एक विकेट चटकाया हैं, वहीं, वनडे क्रिकेट में कैप्टन कूल कहे जाने वाले धोनी ने इस उपलब्धि को अपने नाम किया है। सैयद किरमानी और महेंद्र सिंह धोनी के अलवा भारत के किसी और विकेटकीपर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में विकेट नहीं चटकाया है। सबसे पहले बात सैयद किरमानी की । 

भारत के लिए कुल 88 टेस्ट मैच खेलने वाले सैयद किरमानी ने, टेस्ट क्रिकेट में विकेटकीपर के तौर पर गेंदबाजी करते हुए, एक विकेट चटकाया है। अपने टेस्ट करियर में किरमानी ने 3.1 ओवर गेंदबाजी की थी और इस दौरान उन्होंने 13 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया था। सैयद किरमानी ने ये विकेट पाकिस्तान के खिलाफ नागपुर में लिया था। किरमानी ने 2 ओवर में 9 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। 

अब बात करते हैं, 3G, 4G और विकेट के पीछे बिजली से भी तेज हाथ चलाने वाले धोनी G की। धोनी ने बिजली से भी तेज हाथ विकेट के पीछे तो चलाया ही है लेकिन साथ ही साथ धोनी ने गेंदबाजी में भी बल्लेबाजों के छक्के छुड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। 

वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी ने विकेटकीपर के तौर पर एक विकेट अपने नाम किया है।  इस रिकॉर्ड को अपने नाम करने वाले धोनी फ़िलहाल इकलौते क्रिकेटर हैं। अपने वनडे करियर में 350 मैच खेलने वाले धोनी ने कुछ मौकों पर गेंदबाजी भी की है और एक विकेट अपने नाम भी किया है।  वनडे क्रिकेट में विकेटकीपर के तौर पर गेंदबाजी करने वाले धोनी भारत के एकमात्र खिलाड़ी हैं। अपने वनडे करियर में धोनी ने कुल छह ओवर गेंदबाजी की है और इस दौरान उन्होंने 31 रन देकर एक विकेट भी चटकाया है।  धोनी के बेस्ट परफॉर्मेंस 14 रन देकर एक विकेट का रहा है। 30 सितंबर 2009 को वेस्टइंडीज के खिलाफ धोनी ने जोहानसबर्ग में एक विकेट हासिल किया था। इसके बाद धोनी ने 20 जून 2013 को श्रीलंका के खिलाफ कार्डिफ में चार ओवर गेंदबाजी की थी और 17 रन लुटाए थे। हालांकि, इस मुकाबले में धोनी को कोई सफलता नहीं मिली थी। 

सैयद किरमानी अपने जमाने के दिग्गज खिलाड़ियों में से एक है ।  कपिल देव की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने जब विश्व कप को पहली बार अपने नाम किया था, तब किरमानी उस टीम का हिस्सा थे ।  वहीं, बात अगर धोनी की करें तो धोनी ने भारतीय टीम को दूसरी बार वनडे क्रिकेट में विश्व चैंपियन बनाया था ।   वैसे धोनी के बारे में आपको बता दें, धोनी बहुत जल्द आईपीएल के जरिए क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने वाले हैं । धोनी 29 फ़रवरी को चेन्नई पहुंचेंगे और 1 मार्च से टीम के साथ ट्रेनिंग में हिस्सा लेंगे। वैसे, धोनी के फैंस धोनी का इंतजार काफी लंबे समय से कर रहे हैं तो लीजिए इंतजार की घडियां अब खत्म हुईं ।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन