लैवेंडर के फूल से करें मानसिक तनाव को दूर


Nazneen yakub

लैवेंडर के फूल की खेती अफ्रीका, दक्षिणी पश्चिमी एशिया और ईरान जैसे देशों में की जाती है, भारत में इसकी खेती हिमाचल प्रदेश, कश्मीर और उत्तर प्रदेश में की जाती है। लैवेंडर एक ऐसा फूल है जिसको हम घरों में सजाने के अलावा कई  समस्याओं को दूर करने में भी इसका उपयोग करते हैं।

लैवेंडर का तेल हमारे लिए काफी उपयोगी माना गया है। लैवेंडर का  तेल हमारे मानसिक तनाव को दूर करता है , सिरदर्द से आराम दिलाता है , नींद की समस्या को दूर करता है, सूजन को कम करने में मदद करता है और साथ ही यह हमारी त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमन्द होता है।

लैवेंडर के फूल को हम कई तरीको से इस्तेमाल करते हैं, जैसे लैवेंडर का तेल , साबुन, इत्र और लैवेंडर के फूलों को सुखा कर भी हम इसका उपयोग करते हैं।   

लैवेंडर के फूल में माइक्रोबियल, एंटीसेप्टिक और एटीबैक्टीरियल जैसे और भी कई गुण पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के लिए उपयोगी होते हैं।

लैवेंडर से होने वाले नुकसान-

लैवेंडर के इस्तेमाल से हार्मोनल असंतुलन हो सकता है जिससे लड़को में ज्ञ्नेकोमास्टिया जैसी समस्या हो सकती है। लैवेंडर के तेल से उल्टी, मचली जैसी समस्याएं हो सकती है।  

लैवेंडर के तेल से उल्टी, मचली जैसी समस्याएं हो सकती है।  

अगर आपको किसी तरह की एलर्जी जैसी समस्या है तो आप एक बार डाक्टर की सलाह पर इसका इस्तेमाल  करें।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

अपराध

दुनिया

खेल

मनोरंजन