भारतीय हॉकी महिला टीम से सेमीफाइनल में बेईमानी, क्रिकेटर सहवाग का भड़का गुस्सा


Jasmine Siddiqui

बर्मिंघम में खेले जा रहे कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम शानदार फॉर्म में थी। अपने इस शानदार फॉर्म की वजह से वह सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली थी, लेकिन भारतीय महिला हॉकी टीम को सेमीफाइनल में बेईमानी का शिकार होना पड़ा। जिसकी कीमत उसे सेमीफाइनल के हार के साथ चुकानी पड़ी।

बता दें कि, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच यह मैच ड्रॉ रहा था। जिसके बाद पेनल्टी शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया ने 3-0 से मैच अपने नाम कर लिया। बस इसी पेनल्टी में भारतीय टीम के साथ बेईमानी हुई। जिसकी वजह से पूरी टीम का मनोबल टूट गया। वहीं इस पूरे घटना के बाद पूर्व क्रिकेटर के साथ फैंस ने नराजगी जाहिर की है।

दरअसल, कॉमनवेल्थ गेम्स में कल यानि की 5 अगस्त को भारतीय महिला हॉकी टीम का सेमीफाइनल मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से था। जहाँ इस मुकाबले में शुरुआती तीन क्वार्टर तक ऑस्ट्रेलिया 1-0 से हावी था। जिसके बाद चौथे क्वार्टर में भारत ने गोल दागकर मैच बराबर कर दिया और यह एक गोल वंदना कटारिया ने 49वें मिनट में दागा था। फिर मैच फुल टाइम खत्म होकर ड्रा पर खत्म हो गया। जिस वजह से मैच पेनल्टी शूटआउट में पँहुच गया। जहां ऑस्ट्रेलिया के पहले पेनल्टी शूटआउट में भारतीय कप्तान सविता पुनिया ने समझदारी दिखाते हुए से गोल बचा लिया था, लेकिन यहां रेफरी ने बताया कि टाइमर चालू नही था।

इस पूरे मामले के बाद, अब भारतीय फैंस ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। नाराजगी जाहिर करते हुए फैंस ने टीम के साथ बेईमानी का आरोप लगाया है। वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर इसको लेकर कई पोस्ट किए गए हैं। ट्विटर पर चीटिंग नाम से एक हैशटैग भी ट्रेंड कर रहा है।

वहीं इस पूरे मसले पर पूर्व क्रिकेटर विरेंद्र सहवाग ने भी ट्वीट करते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने लिखा- पेनल्टी मिस हुआ ऑस्ट्रेलिया से और अंपायर ने कहा, सॉरी क्लॉक स्टार्ट नही था। ऐसा पक्षपात क्रिकेट में भी होता था। जबतक कि हम सुपरपॉवर नही बन गए। हॉकी में भी हम जल्द बनेंगे। फिर सारी घड़ियां पर स्टार्ट होंगी। हमारी खिलाड़ियो पर हमें गर्व है। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

अपराध

दुनिया

खेल

मनोरंजन