भारतीय सेना ने किया ब्लैक टॉप पर नियंत्रण, रक्षा मंत्री ने दिया करारा जवाब, चीन का निकला दम


KULDEEP KUMAR

चीन के साथ सीमा विवाद जारी है। इस तनावपूर्ण स्थिति के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उनके चीनी समकक्ष जनरल वेई फेंगई को मॉस्को में एक मीटिंग के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने स्पष्ट संदेश दिया कि चीन को वास्तविक नियंत्रण रेखा(एलएसी) का सम्मान करना चाहिए और यथास्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिश नहीं करनी चाहिए। भारत ने इस मीटिंग में चीन को दो टूक कह दिया है कि चीन अपनी विस्तारवाद की नीति छोड़ देगा तभी सीमा पर शांति कायम हो सकती है। 

बता दें कि यह मीटिंग चीन के आग्रह पर भारतीय समयनुसार रात 09:30 बजे शुरू हुई और पूरे 2 घंटे 20 मिनट तक चली। दोनों देशों के नेताओं के बीच पहले से कोई द्विपक्षीय मीटिंग तय नहीं थी, लेकिन चीन ने इस मीटिंग के लिए पहल की और राजनाथ सिंह को संदेश भिजवाया। यहां तक कि चीनी रक्षा मंत्री मीटिंग के लिए उसी होटल में गए जहां पर भारतीय रक्षा मंत्री रुके हुए थे। दोनों देशों के बीच यह पहली उच्चस्तरीय आमने-सामने की बैठक थी। 

चीन भारत को बार-बार धमकी दे रहा है और सीमा पर यथास्थिति बदलने की कोशिश कर रहा है। लेकिन भारतीय सेना चीन को मुँहतोड़ जवाब दे रही है जिससे चीन की चाल बार-बार नाकाम हो रही है और चीन बुरी तरह बौखलाया हुआ है। चीन एक तरफ तो दुनिया को दिखाने के लिए बात करने की पेशकश करता है और शांति स्थापित करने के लिए कहता है लेकिन वहीं दूसरी ओर वह सीमा पर यथास्तिथि बदलने की हर संभव कोशिश करने में जुटा हुआ है। लेकिन भारतीय सेना चीन की चाल को नाकाम कर देती है जिससे चीन बुरी तरह खुन्नस खाये हुए है। चीन की खुन्नस इसलिए भी है क्योंकि भारत ने चीन के साथ होने वाले कई प्रोजेक्ट्स को रद्द कर दिया है और चीन के बहुत सारे पॉपुलर एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है जिससे चीन को भारी नुकसान हो रहा है। 

भारतीय सेना ने भी सीमा पर चीन को उसी की भाषा में जवाब दिया है और सेना चीन की हर चाल को नाकाम कर रही है। भारतीय सेना ने लद्दाख में कई महत्वपूर्ण चोटियों पर अपनी स्थिति को बेहद ही मजबूत कर लिया है। पेंगोंग के दक्षिणी इलाके में स्थित ब्लैक टॉप और उसके आसपास की महत्वपूर्ण रणनीतिक पोस्ट पर भारतीय सेना जमी हुई है। भारतीय सेना का ब्लैक टॉप पर नियंत्रण करने से चीन काफी परेशान है। वैसे तो ब्लैक टॉप पर चीन का नियंत्रण रहा है लेकिन अब भारतीय सेना वहां मजबूती के साथ डटी हुई है। 

29-30 अगस्त को ही करीब 300 चीनी सैनिक ब्लैक टॉप पर किलेबंदी करने आये थे। लेकिन भारतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों को खदेड़ दिया और अपना नियंत्रण कर लिया। वहीं पेंगोंग झील का दक्षिणी इलाका भारतीय सेना के लिए काफी महत्वपूर्ण है, हमेशा से यहां भारतीय सेना की मौजूदगी रही है और अब भारतीय सेना ने इन जगहों पर अपनी स्थिति को और मजबूत कर लिया है। भारतीय सेना जहां मौजूद है वहां से चीन को उसी की भाषा में जवाब दिया जा सकता है। जिसकी वजह से चीन बहुत परेशान हो गया है और बुरी तरह बौखला गया है। चीन अब ये तक कहने लगा है कि भारतीय सैनिक उसके इलाके में घुस आए हैं। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन