कानपुर में पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ की पूरी कहानी, तीन तरफ से बदमाशों ने किया था हमला


KULDEEP KUMAR

कानपुर में देर रात हुई पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। इस मुठभेड़ में दो बदमाश भी ढेर हुए हैं। 5 पुलिसकर्मी घायल भी हैं। देर रात पुलिस कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को हत्या के प्रयास के मामले में कानपुर के बिकरू गांव पकड़ने गई थी लेकिन घात लगाए बैठे बदमाशों ने पुलिस की टीम पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। 

मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के नाम:-

1- देवेंद्र मिश्र, सीओ बिल्हौर

2- महेश चंद्र यादव, एसओ शिवराजपुर

3- अनूप कुमार, चौकी इंचार्ज मंधना 

4- नेबुलाल, सब-इंस्पेक्टर शिवराजपुर

5- सुल्तान सिंह, कांस्टेबल थाना चौबेपुर

6- राहुल कुमार, कांस्टेबल बिठूर

7- जितेंद्र पाल, कांस्टेबल बिठूर

8- बबलू कुमार, कांस्टेबल बिठूर

घायल पुलिसकर्मियों के नाम:-

1- कौशलेंद्र प्रताप सिंह,

2- सुधाकर पांडेय,

3- अजय सिंह सेंगर, कांस्टेबल

4- अजय कुमार कश्यप, कांस्टेबल

5- शिवमूरत निषाद, कांस्टेबल

कैसे और क्या हुआ:-

उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा कि विकास के खिलाफ हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया गया था। पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी। गुरुवार रात करीब साढ़े बारह बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस मिलकर विकास दुबे के घर पर दबिश देने जा रही थी लेकिन जब पुलिस हिस्ट्रीशीटर के गांव पहुँची तो बदमाशों ने पहले एक जेसीबी को बीच सड़क पर खड़ा कर दिया जिससे पुलिस की गाड़ियां गांव में दाखिल नहीं हो सकी।

इसके बाद सभी पुलिसकर्मी गाड़ी से उतरे। जैसे ही पुलिस की टीम गाड़ी से उतरी, पहले से घात लगाए आठ से दस बदमाशों ने एके-47 और अन्य हथियारों से पुलिस की टीम पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। बदमाशों ने तीन तरफ से घात लगाकर पुलिस की टीम पर हमला किया। बदमाशों ने घर के अंदर से और छतों से फायरिंग की। 

पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की, जिसमें दो बदमाश ढेर हो गए। मारे गए बदमाशों में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और उसका साथी अतुल दुबे है। अन्य बदमाश अंधेरा होने की वजह से भागने में कामयाब हो गए।

सूत्रों के मुताबिक जिस तरीके से बदमाशों ने हमला किया, उससे आशंका है कि बदमाशों को पहले से खबर थी कि पुलिस दबिश देने आ रही है जिससे बदमाशों ने पहले से ही तैयारी कर पुलिस पर हमला किया। 

विकास दुबे है खूंखार अपराधी:-

पुलिस ने बताया कि विकास दुबे एक खूंखार अपराधी है। जिस पर तत्कालीन श्रम संविदा बोर्ड के चैयरमेन राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त भाजपा नेता संतोष शुक्ला की हत्या का आरोप लगा था। बाद में बदमाश विकास दुबे इस केस में बरी हो गया था। इसके अलावा विकास दुबे पर 60 से ज्यादा गंभीर केस दर्ज हैं। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा कि ऑपरेशन अभी भी जारी है। सभी बड़े अधिकारी घटनास्थल पर पहुँच चुके हैं। घटनास्थल पर फोरेंसिक टीम पहुँचकर जांच कर रही है, गांव में एसटीएफ को तैनात किया गया है। 

मुख्यमंत्री ने मांगी रिपोर्ट:-

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कर्तव्यपालन के दौरान शहीद हुए, आठ पुलिसकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री ने इस मामले में सख्त से सख्त कार्यवाही करने और तत्काल मौके की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन