पटना में हैवानियत की हद पार, आठ युवकों ने महिला के साथ गैंगरेप कर बनाया वीडियो, 10 दिन बाद किया वीडियो वायरल


KULDEEP KUMAR

सुशासन का दावा करने वाली सरकार के तमाम दावों के बीच अपराध की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही, अपराध रोकने के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। बिहार की राजधानी में हुई 45 वर्षीय महिला के साथ गैंगरेप की घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। इससे साबित होता है कि गैंगरेप जैसे अपराध करने में भी अब अपराधियों को कोई डर नहीं है।

अपराधी बेखौफ होकर घटना को अंजाम देते हैं और 10 दिन बाद जब पूरी घटना का वीडियो वायरल करते हैं तब कहीं जाकर राजधानी पुलिस की नींद खुलती है। इस घटना ने राजधानी पुलिस की सुशासन वाली छवि के बीच पुलिसिंग व्यवस्था की भी पोल खोल कर रख दी है।

बिहार की राजधानी पटना के गौरीचक में 45 वर्षीय महिला के साथ 8 लड़कों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया और 10 दिन के बाद उसका वीडियो वायरल कर दिया। इस घटना के सामने आते ही सुशासन का दावा करने वाले बिहार में हड़कंप मच गया। गैंगरेप का वीडियो वायरल होने के बाद बिहार पुलिस जागी और आनन-फानन में पीड़िता के बयान दर्ज कर आरोपियों को खोजने के लिए छापेमारी की और 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

बता दे, 45 वर्षीय पीड़ित महिला पटना में घरेलू काम करने जाती है। पीड़िता के मुताबिक वह पटना से काम करके वापस अपने गांव जा रही थी। उसी वक़्त गांव के रास्ते में गवरी चौक के पास बाइक सवार दो युवकों ने उसे गांव छोड़ने का कहकर बाइक पर बैठा लिया और पुनपुन बांध के पास सुनसान जगह में एक घर पर ले गए। जहां पर शराब के नशे में उन दोनों युवको ने अपने अन्य साथियों को बुला लिया। इसके बाद आठों आरोपियों ने महिला के कपड़े फाड़ दिए और सामूहिक दुष्कर्म किया। 

महिला ने बताया कि वह रहम की भीख मांगती रही लेकिन वो दरिंदगी करने के साथ वीडियो बनाते रहे और जान से मारने की धमकी भी दी। पीड़िता के साथ दुष्कर्म करने के बाद सभी आरोपी वहां से फरार हो गए। महिला बदहवास हालत में कैसे भी करके अपने घर पहुँची। 

पूरे मामले पर आईजी रेंज संजय सिंह ने कहा कि विधवा से गैंगरेप का वीडियो वायरल हुआ है। जिसकी जांच कर सच्चाई का पता लगाया जा रहा है। जो भी तथ्य सामने आएंगे उस आधार पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन