चंद्रबाबू और उनके बेटे को किया गया था उन्हीं के घर में नज़रबंद, फिर भी रैली के लिए निकले


Vijay Malik

आंध्रप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू व उनके बेटे को पुलिस ने उन्हीं के घर में नज़रबंद कर दिया। चंद्रबाबू नायडू कांग्रेस के अत्याचारों के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने जा रहे थे।

आंध्रप्रदेश में तेलुगु देशम पार्टी के प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे नारा लोकेश को पुलिस ने आज नज़रबंद कर दिया, इसके बाद नायडू ने अपने घर पर ही भूख हड़ताल करने का फैसला किया। चंद्रबाबू की इस भूख हड़ताल में शामिल होने उनकी पार्टी के नेता व कार्यकर्ता उनकी घर की ओर चल पड़े, लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया और कई नेताओं को गिरफ्तार भी कर लिया, लेकिन फिर भी चंद्रबाबू नायडू प्रर्दशन के लिए घर से निकल गए हैं

दरअसल च्रंदबाबू नायडू ने कांग्रेस दूवारा उनके कार्यकर्ताओं किए जा रहे अत्याचारों के खिलाफ 11 सितंबर को ‘चलो आत्माकुर’ रैली की घोषणा की थी, लेकिन इस रैली के लिए उन्हें पुलिस की अनुमति नही मिली थी। अनुमति न होने के बाद भी जब इस रैली को टाला नही गया तो पुलिस ने चंद्रबाबू व उनके बेटे को नज़रबंद कर दिया और शहर में धारा 144 लागू कर दी गई।  

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन