बॉलीवुड जगत में नेपोस्टिज्म और आउटसाइडर कल्चर को लेकर ट्विटर पर फुट रहा है एक्टर्स का गुस्सा


Riddhi Jain

सुशांत सिंह की मौत के बाद  बॉलीवुड इंडस्ट्री एक दूसरे के ऊपर उंगली उठाते नजर आ रही है। वहीं दूसरी ओर देशवासियों का गुस्सा नेपोस्टिज्म और आउटसाइडर कल्चर को लेकर ट्विटर पर फूट रहा है, साथ ही लोग कई सवाल खड़े कर रहे हैं। हाल ही में फिर इस गलत कल्चर और छोटे स्टार्स के एक्सक्लूशन का शिकार बने एक्टर विद्युत जामवाल और कुणाल खेमू के चलते इस विवाद ने और आग पकड़ ली है।

दरअसल ओटीटी पलेटर्म हॉटस्टार डीसीनी  पर 7 फिल्में लक्ष्मी बॉम्ब, भुज, सड़क 2, दिल बेचारा, द बिग बुल, खुदा हाफिज और लूटकेस रिलीज़ होने जा रही है। फैंस को यह खुशखबरी देने के लिए इन फिल्मों  के लीड एक्टर्स ने इंस्टाग्राम पर लाइव विडियो का आयोजन किया था। लेकिन इस वीडियो के दौरान आगामी फिल्म खुदा हाफिज के ऐक्टर विद्युत जामवाल और लूट केस के अभिनेता कुणाल खेमू को नजरंदाज किया गया। यहाँ तक की एक दिन पहले  इस  लाइव इवेंट का पोस्टर रिलीज़ किया गया था जहां इनका जिक्र भी नहीं किया गया। उनके साथ हुए इस व्यवहार को लेकर विद्युत ने नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए ट्वीट कर कहा '7 फिल्में रिलीज़ के लिए निर्धारित हैं लेकिन केवल 5 फिल्मों को ही प्रतिनिधित्व के योग्य माना जाता है। 2 फिल्मों को कोई आमंत्रण या सूचना तक नहीं। आगे की सड़क लंबी है।'

अभिनेता कुणाल ने भी ट्वीट कर कहा, 'सम्मान और प्यार के लिए नहीं पूछा जाता है, वे अर्जित किए जाते हैं। अगर कोई हमें नहीं देता है, तो यह हमें कोई छोटा नहीं बनाता है। बस हमें भी खेलने के लिए एक मैदान दें और हम भी ऊंची छलांग लगा सकते हैं।' 

बता दें कि जब से भाई-भतीजेवाद और आउटसाइडर एक्सक्लूशन के विवाद ने जोर पकड़ा है तब से ही बॉलीवुड के कई नामचीन अभिनेता और सिंगर इस विवाद पर बेबाक अंदाज से अपनी बात रख रहे हैं।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन