एसी की आदत बना सकती है आपको बीमार


Neel Mani

नई दिल्ली:

कुछ लोगों को हर वक्त एसी में रहने की आदत होती है। चाहे गर्मी कम हो या ज्यादा लेकिन वह एसी के अनुकूल वातावरण में रहना ही पसंद करते हैं। चाहे घर हो ऑफिस हो या फिर कार वह एसी में रहना ही पसंद करते हैं, लेकिन वह यह भूल जाते हैं कि एसी के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव भी होते हैं। आज अपने इस लेख में हम आपको एसी यानी एयर कंडीशनर (Air Conditioner) के कुछ नकारात्मक प्रभावों के बारे में बताएंगे।

एसी के दुष्प्रभाव:

हालांकि एसी के इस्तेमाल से गर्मियों में नही बचा जा सकता, लेकिन एसी का कम से कम इस्तेमाल करना ही स्वास्थ्य के लिए बेहतर रहता है।

सहनशीलता कम हो जाना- जो लोग ज्यादा समय तक एसी में रहते हैं और अपना ज्यादा समय एसी में रहकर ही बिताते हैं, उनमें उन लोगों की अपेक्षा जो कम समय एसी में बिताते हैं या सामान्य वातावरण में रहते हैं कि अपेक्षा गर्मी में किसी कार्य को करने की क्षमता कम हो जाती है और वह सामान्य वातावरण में भी असामान्य महसूस करते हैं।

एसी का घटता बढ़ता तापमान- एसी में सोने के दौरान कई बार एसी का तापमान कम हो जाता है, जिसके कारण हड्डियों पर बुरा प्रभाव पड़ता है जिससे कई समस्यांए उतपन्न हो सकती है। 

तव्चा सम्बंधित समस्यांए- एसी शरीर की नमी सोख लेता है। एसी शरीर का पसीना तो सुखा देता है, लेकिन नमी को सोख लेता है जिससे की शरीर का पानी कम होने लगता है और कई त्वचा सम्बंधित समस्यांए जैसे झुर्रिया इत्यादि होने लगती हैं।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

अपराध

दुनिया

खेल

मनोरंजन