भारत में जल्द ही 5G, 4G से 10 गुना होगा तेज़


Jaun Shahi

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने स्पेक्ट्रम नीलामी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है, भारत को जल्द ही 5G सेवाओं के शुभारंभ के लिए एक मजबूत इकोसिस्टम मिलेगा जो 4G की तुलना में लगभग 10 गुना तेज़ होगा।

डिजिटल कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एक स्पेक्ट्रम नीलामी आयोजित करने के लिए दूरसंचार विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है जिसके माध्यम से सफल बोलीदाताओं को जनता और उद्यमों को 5G सेवाएं प्रदान करने के लिए स्पेक्ट्रम सौंपा जाएगा।

आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी भारतीय दूरसंचार के लिए एक नए युग की शुरुआत है। वैष्णव ने ट्विटर पर कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के डिजिटल इंडिया के विजन के साथ आगे बढ़ रहे हैं।

आज घोषित स्पेक्ट्रम नीलामी 'भारत का 5G' इकोसिस्टम को विकसित करने का एक अभिन्न अंग है। सफल बोली लगाने वालो द्वारा अग्रिम भुगतान करने की कोई अनिवार्य आवश्यकता नहीं है।

केंद्र के अनुसार “दूरसंचार सुधारों को जारी रखते हुए, निजी कैप्टिव नेटवर्क के विकास और स्थापना को सक्षम किया जाएगा।", भारत के 8 शीर्ष प्रौद्योगिकी संस्थानों में 5G परीक्षण बेड सेटअप भारत में घरेलू 5G प्रौद्योगिकी के शुभारंभ को गति दे रहा है।

मोबाइल हैंडसेट, दूरसंचार उपकरणों के लिए PLI (Production-Linked Incentives) योजनाएं और इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन की शुरुआत से देश में 5G सेवाओं के शुभारंभ के लिए एक मज़बूत इकोसिस्टम बनाने में मदद मिलने की उम्मीद है।

स्पेक्ट्रम पूरे 5G इकोसिस्टम का एक अभिन्न और आवश्यक हिस्सा है। केंद्र का मानना ​​है कि आगामी 5G सेवाओं में नए ज़माने के व्यवसाय बनाने, उद्यमों के लिए अतिरिक्त राजस्व उत्पन्न करने और नए उपयोग-मामलों और टेक्नोलॉजी से पैदा होने वाले रोज़गार प्रदान करने की क्षमता है।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

अपराध

दुनिया

खेल

मनोरंजन