16 वर्षीय नाबालिग बेटी ने पिस्टल से अपनी माँ व भाई की गोली मारकर हत्या कर दी, डिप्रेशन की थी शिकार, नजर आते थे उसे भूत-प्रेत


KULDEEP KUMAR

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएम आवास के पास गौतम पल्ली हाई सिक्योरिटी जोन जैसे पॉश इलाके में मां-बेटे के डबल हत्याकांड का लखनऊ पुलिस ने सफल अनावरण करते हुए खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक शनिवार की शाम रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी आरडी बाजपेई की नाबालिग बेटी ने अपनी मां और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। उनकी बेटी डिप्रेशन में थी, उसे घर में भूत नजर आते थे। वह घर वालों को बताती थी लेकिन उसके घर वाले उसकी इस बात पर यकीन नहीं करते थे। इससे गुस्से में नाबालिग ने इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। जिस समय उसने इस हत्याकांड को अंजाम दिया आरडी बाजपेई दिल्ली में थे।

क्या है पूरा मामला:-

राजधानी की हाई सिक्योरिटी जोन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बंगले से महज चंद कदम की दूरी पर, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बंगले के सामने, रेलवे में अधिकारी आरडी बाजपेई के सरकारी बंगले पर शनिवार शाम उनकी पत्नी व बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जिसके बाद अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने जब जांच की तो इस पूरे मामले में खुलासा हुआ कि 4 वर्ष से मानसिक रूप से बीमार चल रही उनकी 16 वर्षीय नाबालिग बेटी ने ही पिस्टल से माँ व भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। मामले के जांच के बाद पुलिस ने आरोपी नाबालिग से पूछताछ की तो उसने अजीबोंगरीब बातें बताई। 

किशोरी के अजीबोंगरीब बयान:-

नाबालिग ने कहा कि मुझे घर व बरामदे में भूत दिखते हैं, जिससे उसे डर लगता था। उसने कई बार मम्मी व भाई को इस बारे में बताया। छात्रा के मुताबिक मां मेरी बात पर विश्वास नहीं करती थी। भाई उसकी बात कभी-कभी मानता तो कभी-कभी हंसी उड़ाता। पुलिस आयुक्त का कहना है कि किशोरी की मानसिक हालत ठीक नहीं है। बताया जा रहा है कि किशोरी जिस कमरे में रहती थी, उसे ही वह अपनी दुनिया मानने लगी थी। किशोरी के कमरे की जब छानबीन की गई तो पता चला कि किशोरी मौत और उसके रहस्यों से संबंधित किताबें पढ़ रही थी। यही वजह है कि वह अवसाद में चली गई। किशोरी ने पूछताछ में तीसरी दुनिया से संपर्क होने की बात कही। 

किशोरी के हाथों पर 100 से ज़्यादा कट के निशान:-

पुलिस के मुताबिक नाबालिग लड़की 10 मीटर पिस्टल इवेंट कि राष्ट्रीय स्तर की शूटर है। वह वर्ष 2014 में बंगाल राइफल एसोसिएशन कोलकाता की तरफ से 57वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में हिस्सा ले चुकी है। पुलिस के मुताबिक पूछताछ के वक्त 16 वर्षीय नाबालिग ने अपने दोनों हाथों को पैंट की जेब में डालकर दुपट्टे से छुपा रखा था। जब उसके हाथों से दुपट्टा हटाया गया तो देखा गया कि उसने कोहनी तक अपने हाथों में पट्टी बांधे हुई थी। उसके हाथ में ताजे कट के कई निशान थे। पुलिस ने जब हाथ की पट्टी खोली तो देखा उसके हाथों में एक-दो नहीं बल्कि 100 से अधिक कट के निशान लगे हैं। 

जब किशोरी से इसके बारे में पूछा गया तो उसने हैरान करने वाली बात बताई कि यह सामान्य बात है। मैंने पढ़ा है कि रोज डेढ मिलियन लोग अपने हाथ काट लेते हैं। मैंने अपने हाथों से कट लगाए हैं। छात्रा ने अपने कमरे पर कंकालों के चित्र बना रखे हैं, उसने अपनी डायरी में भूत दिखने की बात का जिक्र किया है। छात्रा ने बताया, उसके घर का कोई भी सदस्य उसकी बात नहीं सुनता था। उसने इस बात का भी जिक्र डायरी में किया है। पुलिस द्वारा पूरे मामले का खुलासा किया गया है कि डिप्रेशन की वजह से नाबालिग ने इस खौफनाक वारदात को अंजाम देकर अपनी मम्मी व भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। 

मनोचिकित्सक ने दिया बयान:-

वहीं, मानसिक चिकित्सक के मुताबिक नाबालिग से संबंधित जो भी खबरें सामने आ रही हैं। उससे लगता है कि नाबालिग अकेलेपन में अवसाद के कारण दोहरा चरित्र जीने लगी थी। पुलिस ने छात्रा के कमरे से उसका मोबाइल और उसकी डायरी अपने कब्जे में ले ली है। किशोरी की डायरी में कुछ अजीबोंगरीब बातें लिखी हैं जिनकी पुलिस जांच कर रही है।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन