लव-जिहाद : नाम बदलकर पहले प्रेमज़ाल में फंसाया, फिर हत्या कर शव बेडरूम में गाड़ दिया, पुलिस ने बरामद किए कंकाल


KULDEEP KUMAR

भारत में हिंदू लड़कियों के साथ लव-जिहाद के मामले दिनों-दिन बढ़ते जा रहे हैं। आये दिन कोई ना कोई खबर सामने आ ही जाती है। नाम छिपाकर पहले हिंदू लड़कियों को पहले फंसाया जाता है, फिर शादी कर ली जाती है। इसके बाद शुरू होता है असली खेल, शादी करने के बाद लड़कियों पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया जाता है और जब लड़की धर्म परिवर्तन नहीं करती तो उनके साथ मारपीट की जाती है।

लव-जिहाद के कई मामलों में लड़की को मौत के घाट भी उतार दिया जाता है। ऐसा ही एक लव-जिहाद का मामला मेरठ से आया है। जहां पर एक माँ और बेटी को मौत के घाट उतार दिया गया। आरोपी ने दोनों की हत्या कर अपने ही घर में शवों को गाड़ दिया था। मामले का खुलासा मृतक युवती की सहेली द्वारा हुआ। जब उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। 

क्या है पूरा मामला:-

बता दें कि 4 साल पहले ग़ाज़ियाबाद निवासी प्रिया से शमशाद उर्फ अमित गुर्जर नाम के शख्स ने फेसबुक के माध्यम से दोस्ती की थी। शमशाद ने अमित गुर्जर के नाम से फेसबुक पर आईडी बनाई थी। जहां पर उसकी दोस्ती प्रिया से हुई। प्रिया तलाकशुदा थी और उसकी एक बेटी भी थी। तलाक़ के बाद से प्रिया मोदीनगर इलाके में एक किराये के मकान में रहती थी और ब्यूटी पार्लर चलाती थी। शमशाद ने फेसबुक पर प्रिया को अपने प्रेम जाल में फंसाया। प्रिया शमशाद को अमित समझ उसके साथ रिश्ता बढ़ाने लगी।

शमशाद ने प्रिया को शादी का झांसा देकर मेरठ बुला लिया और परतापुर के भूड बराल इलाके में रहने लगा। जब प्रिया को इस बात का पता चला कि उसका पति नाम बदलकर उसको धोखा दे रहा है। तो उसने यह बात अपनी दोस्त चंचल को बताई और अपनी जान को खतरा बताया। 

सहेली को हुई अनहोनी की आशंका:-

लॉकडाउन से पहले चंचल की बात प्रिया से होनी बंद हो गई। चंचल ने इसके बाद शमशाद को फोन किया और प्रिया से बात कराने के लिए कहा लेकिन शमशाद ने उसकी बात प्रिया से नहीं कराई। उसके बाद चंचल ने परतापुर थाने में 14 जुलाई को प्रिया की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने जब छानबीन की तब प्रिया की मौत का खुलासा हुआ।

पुलिस ने नहीं की त्वरित कार्रवाई:-

पुलिस को इस मामले की शिकायत मिल गई थी लेकिन पुलिस ने इस शिकायत पर कोई तवज्जो नहीं दी और इस मामले में ढिलाई बरतती रही। बुधवार को जब हिन्दू संगठनों और स्थानीय नेता की, इस मामले में इन्वॉल्वमेंट हुई तब पुलिस हरकत में आई। 

पुलिस ने आरोपी शमशाद के घर की तलाशी ली। तलाशी में ही प्रिया और उसकी बेटी कशिश की डेड बॉडी शमशाद के घर में एक गड्ढे में मिली। जिसको पुलिस ने पोस्टमार्टम और डीएनए जांच के लिए भेज दिया। 

आरोपी शमशाद की हैवानियत:-

आरोपी ने प्रिया और कशिश को मौत के घाट उतारने के बाद दोनों शवों को अपने बेडरूम में ही गड्डा खोदकर दफना दिया था। पुलिस के अनुसार दोनों शव 115 दिनों से आरोपी के बेडरूम में दफन थे और आरोपी मजे से वहां रह रहा था। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर फर्श तुड़वाकर माँ और बेटी के कंकाल बरामद कर लिए हैं। 

पुलिस मुठभेड़ में आरोपी हुआ घायल:-

जांच की खबर लगते ही आरोपी शमशाद फरार हो गया। एसएसपी मेरठ ने शमशाद पर 25 हजार का इनाम रख दिया और उसे पकड़ने की तलाश तेज़ कर दी गई। पुलिस ने तलाशी के दौरान शमशाद के घर को बुल्डोजर से ध्वस्त कर दिया। देर रात ब्रह्मपुरी के नूर नगर मोड़ पर शमशाद के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बहशी हत्यारा घायल हो गया। पुलिस ने उसको अस्पताल में भर्ती कराया। शमशाद के पास से एक बाइक, एक पिस्टल और कारतूस बरामद हुए हैं।  

मेरठ बना लव-जिहाद का अड्डा:-

केस नंबर- 1

प्रिया की मौत से पहले भी मेरठ में ऐसे कई मामले हुए हैं जिनमें हिंदू लड़कियों को धोखा देकर और हिंदू नाम रखकर पहले प्रेमज़ाल में फंसाया गया है और फिर कई युवतियों को मौत के घाट उतार दिया गया। जून 2020 को भी लव-जिहाद के मामले का खुलासा हुआ था जिसमें शाकिब नाम के आरोपी ने अमन बनकर एकता को फंसाया था। 

एकता लुधियाना की रहने वाली थी और शाकिब से उसकी मुलाकात एक तांत्रिक के यहां पर हुई थी। वहां पर शाकिब ने अपना नाम अमन बताया था। इसके बाद दोनों के बीच दोस्ती हो गई थी और 6 महीने तक शाकिब ने एकता के साथ प्यार का नाटक किया। शाकिब ने एकता को प्रेमज़ाल में फंसा लिया और करीब 3 महीने तक दोनों करनाल में साथ में रहे। 

इसके बाद शाकिब ने एकता को मेरठ में अपने लोइया गांव बुला लिया और साथ ही अपने घर से ज्वैलरी भी लाने के लिए कहा। यहां आकर एकता को असलियत का जब पता चला तो उसने विरोध किया और साथ रहने से इनकार कर दिया। तभी 15 लाख की ज्वैलरी हाथ से फिसलती देख शाकिब ने परिवार की मदद से एकता की कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ मिला दिया जिससे एकता बेहोश हो गई। 

इसके बाद शाकिब अपने परिवार के साथ एकता को जंगल में ले गया और वहां पर उसने एकता के हाथ, पैर और सिर को काटकर अलग कर दिया। एकता के धड़ को गन्ने के एक खेत में गाड़ दिया और हाथ, पैर, सिर को गांव के तालाब में फेंक दिया था। इस मामले का खुलासा जून 2020 में हुआ था।

केस नंबर-2

मेरठ के मुंडाली थाना क्षेत्र के अजराड़ा निवासी वसीम ने दिनेश रावत बनकर हापुड़ की युवती को लव-जिहाद में फंसाया था। इसके बाद कई बार उसने युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाए और युवती का अश्लील वीडियो भी बना लिया। जब युवती को असलियत का पता चला तो उसने इसका विरोध किया। तब आरोपी वसीम लड़की को वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा और करीब 2 साल तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा और धमकी देता रहा कि अगर उसने अपनी जुबान खोली तो उसे जान से मार देगा। 

युवती के पिता ने इस बात की शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने जांच के बाद वसीम को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि वसीम पहले से शादीशुदा था और उसके दो बच्चे भी हैं। वह दिनेश रावत नाम की फर्जी आईडी बनाये हुए था।

केस नंबर-3 

जून 2020 के पहले सप्ताह में भी मेरठ में एक और लव-जिहाद का मामला सामने आया था। जिसमें लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के कांच के पुल निवासी फैसल ने बुलंदशहर की युवती को नाम बदलकर फंसाया था। फैसल ने अपना नाम सोनू बताया था। दोनों की मुलाक़ात दिल्ली के एक फैक्ट्री में हुई थी। युवती के माता-पिता की मृत्यु हो चुकी थी, घर का खर्चा चलाने के लिए वह फैक्ट्री में काम करने लगी थी। फैसल ने नाम बदलकर युवती को अपने प्रेमज़ाल में फंसा लिया। शक ना हो इसलिए वह हाथ में कलावा और सिर पर टीका लगाकर रहता था।

कुछ दिन बाद दोनों ने शादी कर ली। लॉकडाउन होने के बाद फैसल युवती को मेरठ ले आया और प्रहलाद नगर में एक किराये के मकान में रहने लगा लेकिन उसने अपने शहर में आने के बाद कलावा और टीका लगाना छोड़ दिया। उसने राज खुलने के डर से प्रहलाद नगर को छोड़कर मोरीपाड़ा में रहने लगा। इस बीच युवती गर्भवती हो गई। फैसल युवती को जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गया।

इसके बाद युवती भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ थाने पहुँची और फैसल के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई। तब जाकर यह मामला खुला। युवती ने बताया कि फैसल प्रेमज़ाल में फंसाने के लिए  माथे पर टीका लगाता था और हाथ में कलावा पहना करता था। ईद के मौके पर जब फैसल के रिश्तेदार उसके घर पहुँचे तब युवती को हक़ीक़त का पता चला। 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

भारत

दुनिया

खेल

मनोरंजन